इश्क करो तो मुस्कुरा कर, किसी को धोखा न दो अपना बना कर, करलो याद जब तक जिन्दा हैं, फिर न कहना चले गये दिल में यादे बसा कर।

मोहब्बत कभी किसी की इजाज़त की मोहताज नहीं, ये हमेशा से होती चली आई है, और हमेशा होती रहेगी।

जब खामोश आँखों से बात होती है, तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है, तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं, न जाने कब दिन और कब रात होती है।

तू चाँद मैं सितारा होता, आसमान में एक आशिया हमारा होता। लोग तुझे दूर से देखा करते और सिर्फ पास रहने का हक हमारा होता।

Ek Umar Beet Chali Hai Tujhe Chahte Hue, Tu Aaj Bhi BeKhabar Hai Kal Ki Tarah. एक उमर बीत चली है तुझे चाहते हुए, तू आज भी बेखबर है कल की तरह।