Mujhko Phir Wahi Suhana Najara Mil Gaya, Inn Aankhon Ko Deedar Tumhara Mil Gaya, Ab Kisi Aur Ki Tamanna Kyun Main Karu, Jab Mujhe Tumhari Baahon Ka Sahara Mil Gaya. मुझको फिर वही सुहाना नजारा मिल गया, इन आँखों को दीदार तुम्हारा मिल गया, अब किसी और की तमन्ना क्यूँ मैं करूँ, जब मुझे तुम्हारी बाहों का सहारा मिल गया।

Nazre Karam Mujh Par Itna Na Kar, Ki Teri Mohabbat Ke Liye Baagi Ho Jaaun, Mujhe Itna Na Pila Ishq-E-Jaam Ki, Main Ishq Ke Jahar Ka Aadi Ho Jaaun. नज़रे करम मुझ पर इतना न कर, की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं, मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की, मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

Aisa Kya Bolun Ki Tere Dil Ko Chhoo Jaye, Aisi Kisse Dua Maangu Ki Tu Meri Ho Jaye, Tujhe Paana Nahin Tera Ho Jaana Hai Mannat Meri, Aisa Kya Kar Doon Ki Ye Mannat Poori Ho Jaye. ऐसा क्या बोलूं कि तेरे दिल को छू जाए, ऐसी किससे दुआ मांगू कि तू मेरी हो जाए, तुझे पाना नहीं तेरा हो जाना है मन्नत मेरी, ऐसा क्या कर दूं कि ये मन्नत पूरी हो जाए।

खुशी से अपना दिल आबाद करना, हर ग़म को अपने दिल से आजाद करना, बस आपसे एक ही गुजारिश है हमारी, यूं ही उम्र भर हमसे हमेशा प्यार करना।

ये ठंडी हवाएं , काली घटाएं , मस्त फिजाएं , हर बार ही कुछ कहती हैं, पर सुनाई जब देती हैं, जब वो साथ मेरे होती है।