जब देखा उन्होंने अपनी तिरछी नजर से, कसम खुदा की मदहोश हो गए हम, जब पता चला उनकी नजर ही तिरछी है, तो वही खड़े खड़े बेहोश हो गए हम। Jab Dekha Unhone Apni Tirchhi Nazar Se, Kasam Khuda Ki Madhosh Ho Gaye Hum, Jab Pata Chala Unki Najar Hi Tirchi Hai, To Wahi Khade-Khade BeHosh Ho Gaye Hum.

वो बेवफा होती तो यारों और बात थी, उसकी वफ़ा से ही मेरे दिल में ज़ख्म है, हर दूसरे दिन उसका मैसेज आ जाता है, मोबाइल रिचार्ज करा दो जानू! बैलेंस ख़त्म है। Wo Bewafa Hoti To Yaaro Aur Baat Thi, Uski Wafa Se Hi Mere Dil Mein Zakhm Hai, Har Dusre Din Uska Messege Aa Jata Hai, Mobile Recharge Kara Do Jaanu! Balance Khatm Hai.

धोखा मिला जब प्यार में हमें, ज़िन्दगी में उदासी छा गई, सोचा था छोड़ देंगे प्यार करना, पर आज मोहल्ले में दूसरी आ गई। Dhokha Mila Jab Pyar Mein Humein, Zindagi Mein Udaasi Chhaa Gayi, Socha Tha Chhod Denge Pyar Karna, Par Aaj Mohalle Mein Doosri Aa Gayi.

प्यार-मोहब्बत की भी अजीब सी कहानी है, इक टूटी हुई कश्ती, ठहरा हुआ पानी है, इक फूल जो किताबों में दम तोड़ चुका है, साला याद नहीं आता किसकी निशानी है? Pyar-Mohabbat Ki Bhi Ajeeb Si Kahani Hai, Ik Tooti Hui Kashti Thhehra Hua Paani Hai, Ik Phool Jo Kitabo Mein Dum Tod Chuka Hai, Saala Yaad Nahi Aata Kiski Nishani Hai..

मोहब्बत हमने उसी दिन छोड़ दी थी ग़ालिब, जब उसने कहा था कि पप्पियों के पैसे अलग और झप्पियों के अलग। Mohabbat Humne Usi Din Chhod Di Thi Ghalib, Jab Usne Kaha Tha Ki Pappiyon Ke Paise Alag Aur Jhappiyon Ke Alag.