दुनिया में उल्फत का यही दस्तूर होता है, दिल से जिसे चाहो वही हमसे दूर होता है, दिल टूट कर बिखरता है इस कदर जैसे, काँच का खिलौना टूट के चूर-चूर होता है। Duniya Mein Ulfat Ka Yehi Dastoor Hota Hai, Dil Se Jise Chaaho Wahi Humse Door Hota Hai, Dil Toot Kar Bikharta Hai Iss Kadar Jaise, Kanch Ka Khilona Toot Ke Choor Choor Hota Hai.

ऐसा तल्ख़ जवाबे-वफ़ा पहली ही दफा मिला, हम इस के बाद फिर कोई अरमां न कर सके। Aisa Talkh Jawab-e-Wafa Pehli Hi Dafa Mila, Hum Iss Ke Baad Phir Koi Armaan Na Kar Sake.

मुझको तो होश नहीं तुमको खबर हो शायद, लोग कहते हैं कि तुमने मुझे बर्बाद कर दिया। Mujhko To Hosh Nahi Tumko Khabar Ho Shayad, Log Kehte Hain Ke Tumne Mujhe Barbad Kar Diya.

जब प्यार ही नहीं है तो भुला क्यों नहीं देते, खत किसलिए रखे हैं जला क्यों नहीं देते, किस वास्ते लिखा है हथेली पे मेरा नाम, मैं हर्फ़ गलत हूँ तो मिटा क्यों नहीं देते। Jab Pyar Hi Nahi Hai To Bhula Kyun Nahi Dete, Khat Kis Liye Rakhe Hain Jala Kyun Nahi Dete, Kis Vaaste Likha Hai Hatheli Pe Mera Naam, Main Harf Galat Hun To Mita Kyun Nahi Dete.

ज़ख्म लगा के मेरे दिल पे बड़ी सादगी के साथ, टूटे हुए मेरे दिल का क्या पूछते हो? ठुकरा दिया जो तुमने मोहब्बत को इस तरह, पलट-पलट के प्यार से क्या देखते हो? Zakhm Laga Ke Mere Dil Pe Badi Sadgi Se, Toote Huye Mere Dil Ka Kya Haal Poochhte Ho? Thukra Diya Jo Tumne Mohabbat Ko Iss Tarah, Palat-Palat Ke Pyar Se Kya Dekhte Ho?