जो दिल के आईने में हो वो ही प्यार के काबिल है, वरना दीवार के काबिल तो हर तस्वीर होती है। Jo Dil Ke Aaine Mein Ho Wo Hi Pyar Ke Kaabil Hai, Warna Deewar Ke Kabil To Har Tasvir Hoti Hai.

जिसे भी देखा रोते हुए पाया मैंने, मुझे तो ये मोहब्बत, किसी फ़कीर की बद्दुआ लगती है। Jise Bhi Dekha Rote Huye Paya Maine, Mujhe To Ye Mohabbat, Kisi Faqir Ki Bad-dua Lagti Hai.

ना पीछे मुड़ के देखो ना आवाज़ दो मुझको, बड़ी मुश्किल से सीखा है मैंने अलविदा कहना। Na Peechhe Mud Ke Dekho Na Aawaaz Do Mujhko, Badi Mushkil Se Seekha Hai Maine Alvida Kehna.

सुकून मिलता है दिल को तुझे सोचने से भी, फिर कैसे कह दूँ मेरा इश्क़ बेवजह सा है। Sukoon Milta Hai Dil Ko Tujhe Sochne Se Bhi, Fir Kaise Keh Doon Mera Ishq Bewajah Sa Hai.

तू ने मेरा आज देख कर मुझे ठुकराया है, हमने तेरा गुजरा कल देख के मोहब्बत की थी। Tu Ne Mera Aaj Dekh Kar Mujhe Thhukraya Hai, Humne Tera Gujra Kal Dekh Ke Mohabbat Ki Thi.