रोज़ आ जाते हो तुम नींद की मुंडेरों पर, बादलों में छुपे एक ख्वाब का मुखड़ा बन कर, खुद को फैलाओ कभी आसमाँ की बाँहों सा, तुम में घुल जाए कोई चाँद का टुकड़ा बन कर। शुभरात्रि।। Roj Aa Jate Ho Tum Neend Ki Munderon Par, Baadalon Mein Chhupe Ek Khwaab Ka Mukhda Ban Kar, Khud Ko Phailaao Kabhi Aasmaan Ki Baahon Sa, Tum Mein Ghul Jaaye Koi Chaand Ka Tukda Ban Kar. Good Night!!

इस कदर हम आपकी मोहब्बत में खो गए, एक नजर देखा और बस आपके ही हो गए, आँख खुली तो पता चला देखा एक सपना था, आँख बंद की और उसी सपने में खो गए। शुभरात्रि। Is Kadar Hum Aapki Mohabbat Mein Kho Gaye, Ek Najar Dekha Aur Bas Aapke Hi Ho Gaye, Aankh Khuli To Pata Chala Dekha Ek Sapna Tha, Aankh Band Ki Aur Usi Sapne Mein Kho Gaye. Good Night.

मिलने आयेंगे हम आपसे ख्वाबों में, ये जरा रौशनी के दिये बुझा दीजिए, अब नहीं होता इंतज़ार आपसे मुलाकात का, जरा अपनी आँखों के परदे गिरा दीजिए। शुभरात्रि। Milne Aayenge Hum Aapse Khwaabon Mein, Ye Jara Roshni Ke Diye Bujha Dijiye, Ab Nahi Hota Intezar Aapse Mulakat Ka, Jara Apni Aankhon Ke Parde Gira Dijiye. Good Night.

होंठ कह नहीं सकते फ़साना दिल का, शायद नजर से हमारी बात हो जाए, इस उम्मीद में करते हैं इंतज़ार रात का, शायद सपने में ही मुलाकात हो जाये। शुभरात्रि। Honthh Keh Nahi Sakte Fasaana Dil Ka, Shayad Najar Se Humari Baat Ho Jaaye, Is Ummeed Mein Karte Hain Intezaar Raat Ka, Ki Shayad Sapne Mein Hi Mulakat Ho Jaaye. G.Night

तन्हा रात में जब हमारी याद सताये, हवा जब आपके बालों को सहलाये, कर लेना आँखें बंद और सो जाना, शायद हम आपके ख्वाबों में आ जाये। शुभरात्रि। Tanha Raat Mein Jab Humeri Yaad Sataye, Hawaa Jab Aapke Baalon Ko Sehlaaye, Kar Lena Aankhein Band Aur So Jana, Shayad Hum Aapke Khawabo Mein Aa Jaaye. Good Night & Sweet Dreams.