माँगा करेंगे अब से दुआ हिज्र-ए-यार की, आखिर को दुश्मनी है दुआ की असर के साथ। Maanga Karenge Ab Se Duaa Hijr-e-Yaar Ki, Akhir Ko Dushmani Hai Duaa Ki Asar Ke Saath.

जीने की उसने हमें नई अदा दी है, खुश रहने की उसने हमें दुआ दी है, ऐ खुदा उसको खुशियाँ तमाम देना, जिसने अपने दिल में हमें जगह दी है। Jeene Ki Usne Hamein Nayi Adaa Dee Hai, Khush Rehne Ki Usne Humein Duaa Dee Hai, Aye Khuda Usko Khushiyan Tamaam Dena, Jisne Apne Dil Mein Humein Jagah Dee Hai.

वो आ गए मिलने हमसे एक शाम तन्हाई मिटाने, और हम समझ बैठे इसे अपनी दुआओं का असर। Wo Aa Gaye Milne Humse Ek Shaam Tanhayi Mitane. Aur Hum Samajh Baithe Ise Apni Duaaon Ka Asar.

तकदीर लिखने वाले एक एहसान लिख दे, मेरी मोहब्बत की तकदीर में मुस्कान लिख दे, ना मिले ज़िन्दगी में कभी भी दर्द उसको, चाहे उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे। Taqdeer Likhne Wale Ek Ehasaan Likh De, Meri Mohabbat Ki Takdeer Mein Muskan Likh De, Na Mile Zindagi Mein Kabhi Bhi Dard Usko, Chaahe Uski Kismat Mein Meri Jaan Likh De.

तू मिल जाए मुझे बस इतना ही काफी है​, मेरी हर साँस ने बस ये ही दुआ माँगी है​, जाने क्यूँ दिल खिंचा जाता है तेरी तरफ​, क्या तूने भी मुझे पाने की दुआ माँगी है​। Tu Mil Jaaye Mujhe Bas Itna Hi Kafi Hai, Meri Har Saans Ne Ye Hi Duaa Maangi Hai, Jaane Kyun Dil Khincha Jata Hai Teri Taraf, Kya Tu Ne Bhi Mujhe Paane Ki Duaa Maangi Hai.