Life (Zindagi) Shayari

अब तो अपनी तबियत भी जुदा लगती है,
साँस लेता हूँ तो ज़ख्मों को हवा लगती है,
कभी राजी तो कभी मुझसे खफा लगती है,
ज़िन्दगी तू ही बता तू मेरी क्या लगती है।

Ab To Apni Tabiyat Bhi Juda Lagti Hai,
Saans Leta Hun To Zakhmo Ko Hawa Lagti Hai,
Kabhi Razi To Kabhi Mujse Khafa Lagti Hai,
Zindagi Tu Hi Bata Tu Meri Kya Lagti Hai.

Bewafa Shayari

कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
कभी याद आकर उनकी जुदाई मार गयी,
बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी।

Kabhi Gham To Kabhi Tanhai Maar Gayi,
Kabhi Yaad Aakar Unki Judai Maar Gayi,
Bahut Toot Kar Chaha Jisko Humne,
Aakhir Mein Unki Hi Bewafai Maar Gayi.

Love Shayari

कैसे मैं बताऊं किस कदर उसके सपने सजते है,
उसके दिलकश नजारो के आगे चाँद तारे भी फ़िके लगते है।
शराब से ज्यादा नशीली है उसकी आंखें,साहब..,
तुम क्या जानो हमको पता है हम कैसे बचते है…

Beauty Shayari

नहीं भाता अब तेरे सिवा किसी और का चेहरा,
तुझे देखना और देखते रहना दस्तूर बन गया है।

Nahi Bhaata Ab Tere Siwa Kisi Aur Ka Chehra,
Tujhe Dekhna Aur Dekhte Rehna Dastoor Ban Gaya.

Maa Shayari

ऐ अँधेरे देख मुँह तेरा काला हो गया,
माँ ने आँखें खोल दी घर में उजाला हो गया।

Aye Andhere Dekh Tera Munh Kala Ho Gaya,
Maa Ne Aankhein Khol Di Ghar Mein Ujala Ho Gaya.